राम मंदिर अयोध्‍या में 22 जनवरी को रामलला प्राण प्रतिष्‍ठा सुनिश्चित है 

रामलला की प्राण प्रतिष्‍ठा के बाद श्रद्धालुओं के लिए भव्‍य प्रसाद की व्‍यवस्‍था है इससे

पहले भगवान को भोग लगाया जाएगा पाकिस्‍तान से आई खास चीज का इस्‍तेमाल भगवान के भोग में होगा   

50 के दशक में पाकिस्‍तान से हुआ था करार व्रत में हिंदू समुदाय के लोग इस्‍तेमाल करते आ रहे है 

हम बात कर रहे हैं व्रत या भोग में इस्‍तेमाल होने वाले सेंधा नमक की जो पाकिस्तान से आता है 

बिना इस नमक के हम त्योहार,पूजा-पाठ के दौरान अपना भोजन ही तैयार नहीं करते हैं

भारत और पाकिस्तान के बीच हुए एक समझौते में सेंधा नमक बिना रुकावट के आपूर्ति का करार हुआ था

सेंधा नमक को रॉक साल्ट, हिमालयन पिंक साल्ट या लाहौरी नमक भी कहा जाता है

जानिए भगवान श्री राम के पूर्वजो और श्री राम 108 नामों के बारे में