blogging

Blogging | ब्लॉगिंग शुरू करने में कितना पैसा लगेगा | Best 3 hosting company in india

Blogging (ब्लॉगिंग) शुरू करने में कितना पैसा लगेगा डोमेन नेम, होस्टिंग में कितना पैसा इन्वेस्ट करना पड़ेगा। भारत की सर्वश्रेष्ठ होस्टिंग कंपनियां कौन सी हैं।

इस पोस्ट में आप जानेंगे

Blogging

ब्लॉगिंग शुरू करने के लिए हमें कितने पैसे की आवश्यकता होगी इसके बारे में विस्तार में चर्चा करेंगे पर इससे पहले हम ब्लॉगिंग के बारे में थोड़ा संक्षेप में जान लेते हैं। जब भी कोई व्यक्ति अपनी जानकारी के अनुसार किसी भी विषय पर लिखकर अपनी बातों को इंटरनेट और अपनी वेबसाइट के माध्यम से लोगों तक पहुंचाता है तो उसे ब्लॉगिंग कहा जाता है।

Blogging ब्लॉगिंग शुरू करने के लिए कौन सा प्लेटफार्म बेस्ट है

ब्लॉगिंग शुरू करने के लिए बहुत सी वेबसाइटें आपको फ्री सुविधाएं प्रदान करती हैं जैसे wix, medium, Google, आदि पर इसमें जो सबसे ज्यादा पॉपुलर है वह है गूगल का प्लेटफार्म blogger इस प्लेटफार्म पर आपको ब्लॉगिंग करने की फ्री सुविधा प्रदान की जाती है।

यदि आप एक बिगनर (नौसिखिया) है तो गूगल का प्लेटफार्म ब्लॉगर जो कि बिल्कुल फ्री है यह आपके लिए बिल्कुल बेस्ट है यहां पर आप ब्लॉगिंग से संबंधित बहुत सी चीजें सीख सकते हैं। ऐसा मैं इसलिए कह रहा हूं की ब्लॉगिंग शुरू करने के लिए आपको एक भी रुपए की इन्वेस्ट नहीं करनी पड़ेगी।

परंतु यदि आप थोड़ा बहुत पैसा भी इन्वेस्ट कर सकते हैं लगभग 2 से ₹3000 तक तो आपको वर्ल्ड प्रेस की ओर देखना चाहिए क्योंकि जितने फीचर्स और सीखने के ऑप्शन अपनी वेबसाइट को रैंक करने के ऑप्शन जैसी चीजें आपको ब्लॉगर की अपेक्षा वर्डप्रेस पर अधिक मिलते हैं।

भारत की बेस्ट होस्टिंग कंपनी कौन सी है

वैसे तो बहुत सी होस्टिंग कंपनियां मौजूद हैं परंतु कुछ ही ऐसी कंपनियां हैं। जिनका सर्विस सिस्टम कस्टमर सपोर्ट और वेबसाइट मैनेजमेंट काफी अच्छा है। आपको एडवर्टाइजमेंट में बहुत सी कंपनियों के ऐड देखने को मिलते हैं जो कि काफी सस्ते में आपको होस्टिंग और डोमेन नेम प्रोवाइड कर आते हैं।

परंतु यह सभी सिर्फ लुभावने ऑफर ही हमें दिखाते है होस्टिंग को परचेस करने के बाद जब आप अपनी वेबसाइट को रन करते हैं। तब आपको कई तरह के लिमिटेशन देखने को मिले और सबसे ज्यादा सरवर डाउन रहने की प्रॉब्लम फेस करनी पड़ती है।

इसलिए जब भी होस्टिंग का चुनाव करना हो तो कुछ चीजों का हमें विशेष ध्यान देना होता है जैसे कि सरवर की लोकेशन, अपटाइम , स्टोरेज कैपेसिटी , रैम आदि।

होस्टिंग खरीदते समय कुछ ध्यान रखने योग्य बातें

उस दिन खरीदे होस्टिंग खरीदते समय हमें कुछ बातों का ध्यान अवश्य रखना चाहिए ताकि जब हम अपनी वेबसाइट को इंस्टॉल कर के रन करें तब हमारी वेबसाइट में किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं आनी चाहिए।

01- रैम 02- स्टोरेज
03- सरवर लोकेशन04- अप टाइम
05- ईमेल06- कितने डोमेन क्रिएट कर सकते हैं
07- कस्टमर सपोर्ट08- कितनी वेबसाइट को क्रिएट कर सकते हैं

रैम किसे कहते हैं

रैम के आधार पर ही आपकी वेबसाइट रन करती है आपकी वेबसाइट की रैम जितनी अधिक रहेगी वेबसाइट को उतनी ही तेजी से लोड होने में मदद करेगी इसलिए होस्टिंग का चुनाव करते समय रैम का विशेष ध्यान रखें कि आपको जितनी रैम ऑफर की जा रही है उतना आपको मिल भी रहा है या नहीं या जरूर चेक करें।

अपटाइम क्या होता है

अपटाइम का मतलब होता है कि आपकी वेबसाइट कितने समय ऑनलाइन रहती है लगभग लगभग सभी कंपनियां 99% अपटाइम होने का दावा करती है पर ऐसा होता नहीं है। 99% का मतलब यह होता है कि 1 महीने मे 99% परंतु यह 95-96 % के आसपास अगर होता है। तो लगभग 1 महीने में आपकी वेबसाइट 20 से 25 घंटे ऑफलाइन रहेगी अब शायद अपटाइम आपको समझ में आ गया होगा।

सर्वर लोकेशन

यदि आप की वेबसाइट .in तो निश्चित ही आपके टारगेट ऑडियंस इंडिया से ही होगी इसके लिए बेहतर होगा कि आप इंडिया के सर्वर को ही सिलेक्ट करें सर्वर की लोकेशन भी आपकी वेबसाइट लोडिंग स्पीड पर इफेक्ट करती है। यदि आपका डोमेन नेम .com है और आपकी टारगेट ऑडियंस फॉरेन कंट्री से है तो आपको उसके हिसाब से सर्वर लोकेशन का चुनाव चाहिए।

Blogging, ब्लॉगिंग शुरू करना कितना पैसा लगेगा
सर्वर लोकेशन

सर्वर लोकेशन कैसे सेट करते हैं इसके लिए आपको यूट्यूब पर बहुत सी वीडियो देखने को मिल जाएंगे जो कि काफी आसान है।

वेबसाइट या होस्टिंग में स्टोरेज क्या होता है

यहां स्टोरेज का मतलब होस्टिंग की मेमोरी से है आपकी होस्टिंग में जितनी अधिक मेमोरी होगी या स्टोरेज होगा आप इतने अधिक इमेजेस वीडियो डॉक्यूमेंट आदि को अपनी वेबसाइट पर अपलोड कर पाएंगे इसलिए अपनी होस्टिंग में स्टोरेज का भी विशेष ध्यान रखें।

एक होस्टिंग से हम कितनी वेबसाइट क्रिएट कर सकते हैं

होस्टिंग कंपनियां अक्सर 3 से 4 तरह के प्लान मार्केट में लॉन्च करती रहती है इसमें इनका पहला प्लान बेसिक प्लान होता है दूसरा प्रो प्लान होता है और तीसरा बिजनेस प्लान होता है।

इन्हें प्लान के आधार पर यह सुनिश्चित होता है कि आप अपनी होस्टिंग में इतने डोमेन को इंस्टॉल कर सकते हैं कितने ईमेल क्रिएट कर सकते हैं यह सारी चीजें इन प्लान के अंतर्गत होती हैं।

डोमेन नेम खरीदने में कितना पैसा लगेगा
डोमेन नेम

डोमेन नेम खरीदने में कितना पैसा लगेगा

जब भी आप होस्टिंग खरीदते हैं तो अक्सर कंपनियां आपको एक फ्री डोमेन चुनने का ऑप्शन देती है परंतु यदि आप होस्टिंग नहीं खरीदना चाहते आपको सिर्फ डोमेन नेम ही खरीदना है तो उसका भी विकल्प होस्टिंग प्रोवाइडर आपको देता है

यदि आप एक फ्रेश डोमेन नेम खरीदना चाहते हैं तो जहां आपको भाई 100 से 1000 के बीच में मिल जाएगा इसके अंदर .com, .in, .gov जैसे टॉप लेवल डोमेन नेम की प्राइस अलग-अलग होती है यह आपके ऊपर निर्भर करता है कि आप कौन सी कैटेगरीज में डोमेन नेम लेना चाहते हैं

.com, .in, .gov, .co.in को टॉप लेवल कैटेगरी में माना जाता है और इनके रैंकिंग होने का चांस भी अधिक होता है।

यदि आप एक्सपायर डोमेन खरीदते हैं तो एक्सपायर डोमेन नेम की कीमत अलग-अलग होती है कुछ एक्सपायर डोमेन नेम आपको बहुत सस्ते में मिल जाएंगे और कुछ एक्सपायर डोमेन बहुत महंगे मिलते हैं।

टेलीग्राम ग्रुप को ज्वाइन करें

भारत की बेस्ट होस्टिंग कंपनी कौन सी हैं

वैसे तो इंटरनेट पर आपको बहुत सी होस्टिंग कंपनियां मिल जाएगी पर मैं यहां पर आपको कुछ ऐसी होस्टिंग कंपनी के बारे में बता रहा हूं जिनकी सर्विस भारत में बहुत अच्छी है और इनका कस्टमर सपोर्ट काफी अच्छा है।

यदि आप ब्लॉगिंग (Blogging) करना चाहते हैं या ई-कॉमर्स वेबसाइट चलाना चाहते हैं या किसी अन्य तरह की वेबसाइट को होस्ट करना चाहते हैं तो मैं आपको इन वेबसाइट कंपनियों का लिस्ट दे रहा हूं।

  1. Blue Host
  2. Hostinger
  3. Digital ocean
  4. Godaddy

ब्लॉगिंग शुरू करने में कितना पैसा लगेगा।

होस्टिंग खरीदने में कितना पैसा लगेगा।

यदि आप अपना खुद का डोमेन नेम और होस्टिंग खरीदते हैं तो आपको होस्टिंग कंपनी पहले 1 साल डोमेन नेम फ्री देती है परंतु उसके बाद वह डोमेन नेम का भी चार्ज करती है यदि आप डोमेन नेम और होस्टिंग कम से कम 1 साल के लिए लेते हैं तो यहां पर आपको 3 से ₹4000 इन्वेस्ट करने होंगे।

लेकिन यदि आप 2 या 3 साल के लिए इन्वेस्टमेंट करते हैं तो आपको 5 से ₹7000 इन्वेस्ट करने पड़ेंगे यहां यह ध्यान देने योग्य बात यह है कि आप जितने अधिक समय के लिए इन्वेस्ट करते हैं होस्टिंग कंपनियां आपको उतना अधिक डिस्काउंट देती हैं।

इसलिए होस्टिंग में लंबे समय के लिए इन्वेस्ट करना फायदे का सौदा हो सकता है। क्योंकि आप आप जितने अधिक समय के लिए होस्टिंग परचेज करेंगे आपको उतना अधिक डिस्काउंट मिलेगा।

होस्टिंग किसे कहते हैं?

जहां पर आप की वेबसाइट का सारा डाटा मौजूद होता है (स्टोर होता है) और आपकी वेबसाइट को ऑनलाइन रखने में मदद करता है।

डोमेन नेम किसे कहते हैं?

आपकी वेबसाइट का जो भी नाम होता है उसी नाम को डोमेन नेम कहा जाता है।

(Blogging) ब्लॉगिंग के लिए कौन सा प्लेटफार्म अच्छा है ब्लॉगर या वर्डप्रेस ?

ब्लॉगिंग के लिए वर्ल्डप्रेस का सबसे अच्छा विकल्प है।

फ्री ब्लॉगिंग कैसे करें?

आप ब्लॉगर पर फ्री में ब्लॉगिंग (Blogging) कर सकते हैं

क्या मोबाइल से होस्टिंग परचेज की जा सकती है?

आप मोबाइल और कंप्यूटर दोनों के माध्यम से होस्टिंग परचेज कर सकते हैं। Blogging भी कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें

एफिलिएट मार्केटिंग किसे कहते हैं

seo किसे कहते हैं और यह कैसे किया जाता है।

बेस्ट गैस स्टोब इन इंडिया

हमारे टेलीग्राम को को जॉइन करें

Leave a Comment

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: