options trading

options trading | ऑप्शन ट्रेडिंग किसे कहते हैं | best trading app 2022

options trading | ऑप्शन ट्रेडिंग किसे कहते हैं | ऑप्शन ट्रेडिंग कितने प्रकार की होती है | ऑप्शन ट्रेडिंग के फायदे और नुकसान | ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे करें यदि शेयर बाजार में आपने निवेश किया है तो इसे जरूर पढ़ें।

ऑप्शन ट्रेडिंग किसे कहते हैं

शेयर बाजार के बारे मे तो सभी जानते हैं और बहुत से लोगों ने इस में इन्वेस्ट भी किया है परंतु शेयर बाजार में निवेश करने के अलग अलग तरीके होते हैं उन तरीकों में से एक तरीका ऑप्शन ट्रेडिंग का भी है। इस पोस्ट में आप ऑप्शन ट्रेडिंग के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए इस पोस्ट को पूरा पढ़ें।

ऑप्शन ट्रेडिंग का मतलब ही होता है (विकल्प) इसमें आपको शेयर खरीदने और बेचने का अधिकार प्राप्त होता है। परंतु एक निश्चित समय सीमा के अंदर कि आपको खरीदने और बेचने का अधिकार दिया जाता है कुछ विकल्प (option trading) में समय सीमा अलग-अलग होती है।

ऑप्शन ट्रेडिंग में शेयर खरीदने से पहले हमें उसकी समय सीमा के बारे में पता होना चाहिए इसके साथ ही हमें यह भी ध्यान रखना पड़ता है की हम शेयर किस आधार पर खरीद रहे हैं क्योंकि इसमें कुछ शेयर ऐसे होते हैं जो मार्केट के चढ़ाव पर आपको फायदा पहुंचाते हैं तो कुछ ऐसे होते हैं जोकि मार्केट के उतरने पर आपको फायदा देते हैं।

इस तरह के शेयरो को CE और PE कहा है इनके बारे में हम आगे विस्तार से बात करेंगे। इसलिए जब भी आप ऑप्शन ट्रेडिंग करें तो ce और pe का खास ध्यान रखें ऑप्शन ट्रेडिंग मुख्यतः दो प्रकार से की जाती है पहला है कॉल ऑप्शन और दूसरा पुट ऑप्शन।

ऑप्शन ट्रेडिंग कितने प्रकार की होती है

ऑप्शन ट्रेडिंग दो प्रकार की होती है कॉल ऑप्शन और पुट ऑप्शन इन दोनों के बारे में विस्तार से जानते हैं कि इन दोनों Options Trading में क्या अंतर है और इन के क्या फायदे और नुकसान है।

1️⃣ CE कॉल ऑप्शन

2️⃣ PE पुट ऑप्शन

1️⃣ CE कॉल ऑप्शन

CE कॉल ऑप्शन ट्रेडिंग मे जब आप ट्रेडिंग करना शुरू करते हैं। तो सबसे पहले उस की समय अवधि को देखिए यह कितने दिनों के लिए कुछ ऑप्शन ऐसे होते हैं जो कि 1 दिन के लिए ही होते हैं और कुछ मे आपको चार-पांच दिन का समय मिलता है मार्केट के हिसाब से आप दोनों में इन्वेस्ट कर सकते हैं इस ऑप्शन में निवेश करने पर जब मार्केट प्लस में होगा या जब मार्केट फायदे में होगा तब आपको यह ऑप्शन प्रॉफिट की ओर ले कर जाएगा।

परंतु यदि मार्केट माइनस में है तब आपको यह नुकसान की ओर ले जाएगा। और अपनी निर्धारित समय अवधि के अंदर ही यह समाप्त हो जाएगा यदि आपके खरीदे हुए ऑप्शन की तुलना में यदि मार्केट प्लस में है और आप इसे बेच देते हैं तब आपका फायदा होगा। परंतु यदि आप की खरीद ऑप्शन की तुलना में मार्केट माइनस में है और समय अवधि समाप्त हो जाती है। तब आपको इस परिस्थिति में नुकसान हुआ।

यदि खरीदे गए ऑप्शन आपके निर्धारित मूल्य से नीचे जाते हैं और समय अवधि समाप्त होने निचले स्तर पर ही रहते हैं तब ऐसी परिस्थिति में आपको नुकसान का सामना करना पड़ सकता है परंतु आपके निर्धारित मूल्य के अनुसार यदि उससे से अधिक रहते हैं तब आपको उसके हिसाब से फायदा होता है।

फाइनेंस से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी सबसे पहले पाने के लिए हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्वाइन करें।

2️⃣ PE पुट ऑप्शन

यह ट्रेडिंग कॉल ऑप्शन के बिल्कुल विपरीत काम करता है कॉल ऑप्शन में जब मार्केट प्लस में रहता है तब आपको बेनिफिट मिलता परंतु पुट ऑप्शन में ऐसा नहीं है। यहां पर जब आप निवेश करते हैं तब निर्धारित मूल्य के आधार पर यदि आपका शेयर माइनस की ओर जाता है सब आप फायदे की ओर बढ़ रहे हो।

Options Trading
Swagatam

लेकिन यदि आपका शेयर आपके निर्धारित मूल्य से प्लस की ओर जाता है तब ऐसी स्थिति में आप नुकसान की ओर बढ़ रहे होते हैं। यदि इसे और सरल तरीके से कहा जाए तो इसमें पैसा तब लगाना चाहिए जब मार्केट माइनस की ओर बढ़ रहा हो तभी आपका प्रॉफिट होगा। जबकि कॉल ऑप्शन में एक मार्केट प्लस की ओर बढ़ रहा है पैसा लगाने पर आपको प्रॉफिट होगा यह दोनों एक दूसरे के विपरीत कार्य करते हैं।

ऑप्शन ट्रेडिंग के फायदे और नुकसान

जिस तरह आप ऑप्शन ट्रेडिंग में इन्वेस्ट करके लाखों कमा सकते हैं उसी तरह इस में इन्वेस्ट करने पर आप लाखों गवा भी सकते हैं। इसलिए इसमें इन्वेस्ट करने से पहले आपको बहुत सोच समझ के आवश्यकता होती है और जोखिम लेने का साहस होना चाहिए।

ऑप्शन ट्रेडिंग के फायदे के साथ साथ इसके कुछ नुकसान भी हैं जिनके बारे में आपको पता होना अति आवश्यक है। आप को क्रमवार बताते हैं कि इसके क्या क्या फायदे और नुकसान है।

ऑप्शन ट्रेडिंग के फायदे

  • इसमें निवेश करके आप कम समय में अधिक मुनाफा कमा सकते हैं।
  • इस निवेश में जितना अधिक रिस्क होता है उतना ही अधिक फायदा भी होता है।
  • कॉल ऑप्शन के अंदर आपको प्रीमियम राशि कम देनी होती है जिसकी वजह से आप अधिक से अधिक सकते हैं।
  • यहां पर समय का अनुबंध होता है इस अनुबंध के अंदर ही आप अपनी राशि को जमा कर सकते हैं और निकाल सकते हैं।
  • Options Trading में अधिक तेजी से मुनाफा कमाया जा सकता है।
  • शेयर के अन्य विकल्पों की अपेक्षा ऑप्शन ट्रेडिंग आप जल्दी मुनाफा कमा सकते हैं।
  • इस ऑप्शन के अंदर जब मार्केट प्लस की ओर बढ़ रहा है तब आप अपनी इच्छा अनुसार मुनाफा देख कर अपने शेयर को बेच सकते हैं।
  • मार्केट के चढ़ाव और उतार के हिसाब से निश्चित समय अवधि के अंदर आपको अपने शेयर खरीदने और बेचने का अधिकार दिया जाता है।

ऑप्शन ट्रेडिंग के नुकसान

  • शेयर बाजार के अन्य विकल्पों के अपेक्षा इस विकल्प में पैसा लगाना अधिक जोखिम भरा होता है।
  • Options Trading में आपके जितनी तेजी से मुनाफा कमाते हैं इतनी ही तेजी से अपना नुकसान भी करा सकते हैं।
  • इसमें आप अपने शेयर को होल्ड करके नहीं रख सकते है।
  • समय पूरा होने पर आपके शेयर चाहे वह प्लस में हो या माइनस में हो बिक जाता है। और अमाउंट आपके खाते में जमा कर दिया जाता है।

ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे करें

ऑप्शन ट्रेडिंग शेयर मार्केट का ही एक भाग है। यहां पर ट्रेडिंग करने के लिए आपको एक डीमैट अकाउंट की आवश्यकता होती है। यह डिमैट अकाउंट आप अपने बैंक में जहां पर आप का खाता है वहां ऑनलाइन आसानी से खोल सकते हैं।

परंतु बैंक के अलावा भी बहुत से ऐसे एप्लीकेशन है जो कि आपको ट्रेडिंग करने के लिए काफी सहायता प्रदान करती है और ट्रेडिंग करने के साथ-साथ आपको ट्रेडिंग में हेल्प भी करती है। Angel one, zerodha आदि कंपनियां।

बैंक की अपेक्षा इन कंपनियों में डीमैट अकाउंट ओपन करना काफी आसान रहता है यहां पर आपको बस कुछ स्टेप को फॉलो करने होते हैं अपनी केवाईसी कंपलीट करनी होती है उसके बाद आप यहां पर आसानी से ट्रेडिंग कर सकते।

यदि आप चाहते हैं कि मैं आपको सजेस्ट करो कि हमें किस कंपनी में अपना डिमैट अकाउंट ओपन करना चाहिए तो मैं आपको रिकमेंड करूंगा Angel one जो कि काफी user-friendly है। इनका इंटरफ़ेस बहुत ही अच्छा है। साथ ही साथ यह बिगनर (नौसिखिया) को इनकी टीम में काफी सपोर्ट करती है।

एंजेल वन में डिमैट अकाउंट खोलना काफी आसान है आपको इस लिंक पर क्लिक करके Angel one पर रीडायरेक्ट हो जाना है। और इसे डाउनलोड कर लेना है। होम पेज पर आने के बाद आपसे कोड मांगा जाएगा वहां पर आप N378041 डाल देंगे और वहां पर दिए गए ऑप्शन के हिसाब से जानकारी को अपडेट करते हुए आगे बढ़ जाना है बस कुछ ही मिनटों में आपका डिमैट अकाउंट बनाकर रेडी हो जाएगा।

एंजल वन पर डिमैट अकाउंट खोलने के फायदे

👉यहां पर डीमैट अकाउंट फ्री मे खोला जा सकता है।
👉30 दिन का फ्री ट्रेडिंग मार्जिन दिया जाता है।
👉डिलीवरी में ट्रेडिंग करना लाइफ टाइम के लिए फ्री है।
👉इंट्राडे की ट्रेडिंग को सिर्फ ₹20 पर ट्रेडिंग चार्ज किया जाता है।
👉अकाउंट बनाने और केवाईसी करने का कोई भी चार्ज नहीं लिया जाता।
👉शेयर मार्केट में ट्रेडिंग करने के लिए आप यहां पर फ्री में ट्रेनिंग ले सकते हैं।
एंजेल वन ऐप

आपको सिर्फ केवाईसी कंप्लीट करने के लिए थोड़ा सा इंतजार करना होगा केवाईसी कंपलीट होने मे कम से कम 48 घंटे का समय जाता है। परंतु कभी-कभी या 2 से 4 घंटे में भी कंप्लीट हो जाती है और आपको ट्रेडिंग करने का अप्रूवल मिल जाता है।

यदि आप Options Trading के बारे में कुछ पूछना चाहते हैं या आप कोई सुझाव देना है तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं और हमें फॉलो करना ना भूलें।

FAQ

प्रश्न 1 :- ऑप्शन ट्रेडिंग क्या होती है?

Options Trading के बारे में जाने के लिए इस पोस्ट को पूरा पढ़ें।

प्रश्न 2 :- काल और पुट ऑप्शन क्या है?

कॉल और पुट ऑप्शन के बारे में मैंने इस पोस्ट में डिटेल में बताया है कृपया पोस्ट को पूरा पढ़ें।

प्रश्न 3 :- ऑप्शन ट्रेडिंग कितने प्रकार की होती है?

Options Trading दो प्रकार की होती है कॉल ऑप्शन और पुट ऑप्शन।

प्रश्न 4 :- क्या ऑप्शन ट्रेडिंग में लंबे समय के लिए निवेश किया जा सकता है?

Options Trading में लंबे समय के लिए निवेश नहीं किया जा सकता इसकी समय अवधि निश्चित होती है।

प्रश्न 5 :- ऑप्शन ट्रेडिंग करने के लिए कौन सा ऐप सबसे अच्छा है?

ऑप्शन ट्रेडिंग के लिए मैं रिकमेंड करूंगा आप एंजेल वन पर ट्रेडिंग करें। इसे आप प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें

  1. 5 फ्री ऑनलाइन पैसे कमाने के तरीके
  2. कार के लिए सबसे अच्छे वैक्यूम क्लीनर
  3. सुकन्या समृद्धि योजना क्या है
  4. अटल पेंशन योजना क्या है

हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करना और लाइक करना ना भूले।

Agnipath Yojana 2022 पोस्ट ऑफिस योजना options trading | ऑप्शन ट्रेडिंग किसे कहते हैं | best trading app 2022 Best top 10 vacuum cleaner for car
%d bloggers like this: