72वां उत्तर प्रदेश दिवस, UP Diwas Mahatv history Essay in hindi

72 वां उत्तर प्रदेश दिवस का महत्त्व इतिहास निबंध | 24 January UP Diwas Mahatv history Essay in hindi

72वां उत्तर प्रदेश दिवस का महत्त्व इतिहास निबंध | 24 January UP Diwas Mahatv history Essay in hindi

72वा उत्तर प्रदेश दिवस ( UP Diwas ) का इतिहास

उत्तर प्रदेश का इतिहास लगभग 4 हजार वर्ष पुराना है. एक समय यह आर्यावर्त (भारतवर्ष का पुराना नाम) का प्रमुख भाग हुआ करता था. 

वाल्मीकि रामायण के अनुसार भगवान श्री राम का कौशल राज्य इसी क्षेत्र में था, तब अयोध्या इस राज्य की राजधानी थी.

 पौराणिक ग्रंथों के अनुसार भगवान श्रीकृष्ण का जन्म भी उत्तर प्रदेश के मथुरा शहर में हुआ था. विश्व के प्राचीनतम शहरों में एक काशी (वाराणसी, बनारस) भी इसी प्रदेश का हिस्सा है.

वाराणसी में ही सारनाथ का स्तूप भगवान बुद्ध के प्रथम प्रवचन की याद दिलाता है।

 तो विश्व का सबसे बड़ा कुम्भ मेला इसी प्रदेश के प्रयागराज (इलाहाबाद) में सैकड़ों सालों से मनाया जा रहा है.

 समय के साथ यह क्षेत्र छोटे-छोटे राज्यों में बंटता चला गया. फिर बड़े साम्राज्यों, गुप्त, मौर्य और कुषाण के शासन का हिस्सा रहा है. 7वी शताब्दी में कन्नौज गुप्त साम्राज्य का प्रमुख केन्द्र था यह प्रदेश.

उत्तर प्रदेश राज्य को वैदिक काल में ब्रहमर्षि देश या मध्य देश भी कहा जाता था. मुगलकाल में इसे कई क्षेत्रीय स्तरों पर विभाजित भी किया गया. 

उत्तर प्रदेश 24 जनवरी 1950 को अस्तित्व में लाया गया जब भारत के गवर्नर जनरल ने यूनाइटेड प्राविंसेज (आल्टरेशन ऑफ नेम) ऑर्डर 1950 में पारित किया.

वर्तमान समय में स्थित उत्तराखंड भी उत्तर प्रदेश का हिस्सा था। जहां पर नैनीताल और हरिद्वार जैसी जगह किस राज्य की शोभा बढ़ाती है।

कैसे मनाया जाता हैं उत्तर प्रदेश दिवस कब मनाया जाता है

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आयोजित किया जाता है। ‘उत्तर प्रदेश दिवस’ के मुख्य अतिथि प्रदेश के मुख्यमंत्री होते हैं. वर्तमान में मुख्य अतिथि योगी आदित्यनाथ जी होंगे.

लखनऊ में इसका आयोजन किया जाता है जिसमें उ.प्र. के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मुख्य अतिथि होंगे इसके अलावा राज्यपाल का अहम किरदार होने के कारण कार्यक्रम के दौरान उनकी भी अहम भूमिका होती है.

 इसके अलावा राज्य व केन्द्र के अन्य मंत्री व अधिकारी भी सम्मिलित होते है.

उत्तर प्रदेश के अलावा अन्य राज्यों में भी उपस्थित इस राज्य के नागरिक भी इस दिवस को मनाते हैं. 

इस मौके पर राज्य के लोगों को यहां कि सांस्कृतिक धरोहर, कृषि, पारंपरिक पर्व, उप्र के पर्यटन स्थलों, लोक संगीत, लोक नृत्य आदि से परिचित कराने का और उससे संबंधित जानकारी देने का भी प्रयास किया जाता हैं।

इसके साथ ही युवा वर्ग को प्रदेश के विकास में शामिल किए जाने और रोजगार व व्यवसाय दिलाने की योजनाओं से परिचय कराने का प्रयास किया जाता है.

उत्तर प्रदेश का नाम उत्तर प्रदेश कब पड़ा

24 जनवरी,1950 को भारत के गवर्नर जनरल ने यूनाइटेड प्रोविन्स आदेश,1950 पारित किया

जिसके अनुसार यूनाइटेड प्रोविन्स का नाम बदल कर उत्तर प्रदेश रखा गया।

उत्तर प्रदेश ने वर्षों में विभिन्न परिवर्तनों को देखा है तथा 9 नवंबर, 2000 को पर्वतीय क्षेत्र उत्तराखण्ड को अविभाजित उत्तर प्रदेश से अलग किए जाने के बाद वर्तमान भौगोलिक स्वरूप को प्राप्त किया है।

इस अवसर पर आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रम में संस्कृति, इतिहास, परंपरा, शिल्प, कौशल, टेक्नोलॉजी तथा प्रदेश की अन्य विविधताओं का प्रदर्शन किया जाता है।

 राज्य हित में, प्रदेश सरकार द्वारा बहुत सी योजनाएं भी प्रारम्भ की जाती हैं।

प्रदेश सरकार की उपलब्धियों व परियोजनाओं को जनमानस की सूचनार्थ विभिन्न सरकारी विभागों द्वारा बहुत से स्टाल तथा प्रदर्शनियों के माध्यम से भी दर्शाया जाता है।

उत्तर प्रदेश दिवस का लक्ष्य है कि प्रदेश तथा देश के अन्य भागों में रह रहे लोगों को यहां के इतिहास, संस्कृति तथा विकास की जानकारी अवगत कराया जाए व उन्हें प्रदेश के वृहद संभाव्य क्षेत्रों में निवेश हेतु आमंत्रित किया जाता है।

72वा उत्तर प्रदेश दिवस कैसे मनाया जायेगा (How to Celebrate) 

72वां उत्तर प्रदेश दिवस

इस कार्यक्रम में हर साल उस राज्य के मुख्यमंत्री मुख्य अतिथी होते है. इस वर्ष मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथी होंगे. 

इस कार्यक्रम में उत्तरप्रदेश के राज्यपाल जिनका इस कार्यक्रम को मनाने में महत्वपूर्ण भूमिका है,भी शामिल होंगे.

 इसके लिए कार्यक्रम की ( 72वा उत्तर प्रदेश दिवस ) नियमावली बनाई जाएगी, और मंत्रियों और अधिकारियों की एक समिति बनाई जाएगी. 

यह कार्यक्रम उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में मनाना निश्चित हुआ है, इसी के साथ इसे उत्तर प्रदेश के अलावा अन्य राज्यों में भी मनाया जायेगा. 

इस कार्यक्रम के द्वारा यहाँ के लोगो को यहाँ कि अमूल्य सांस्कृतिक धरोहर से पहचान कराने का प्रयत्न किया जायेगा. साथ ही नवयुवक वर्ग को विकास में शामिल करने का प्रयास किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें

FAQ

उत्तर प्रदेश कहां पर है?

उत्तर प्रदेश भारत में स्थित है।

उत्तर प्रदेश की राजधानी क्या है?

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ है।

उत्तर प्रदेश के प्रमुख तीर्थ स्थान कौन-कौन से हैं?

अजोध्या, काशी, मथुरा आदि यहां के प्रमुख तीर्थ स्थान है

उत्तर प्रदेश की प्रमुख भाषा क्या है?

उत्तर प्रदेश की प्रमुख भाषा हिंदी है।

हमारे टेलीग्राम ग्रुप से जुड़े

Leave a Comment

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: